‘एनएसयूआई’ द्वारा बस्तर विश्वविद्यालय में अनूठा प्रदर्शन, प्रभारी-कुलसचिव को हटाने की मांग को लेकर घुटने के बल किया विरोध प्रदर्शन

जगदलपुर। बस्तर विश्वविद्यालय में व्याप्त अव्यवस्थाओं से त्रस्त छात्र-संगठनों अब तक कई व्यापक आंदोलन कर चुकें है। वहीं विगत 30 जुलाई से NSUI ने बस्तर विश्वविद्यालय के प्रभारी कुलसचिव के खिलाफ लगातार मोर्चा खोल रखा है और चरणबद्ध आंदोलन कर रहा है।

ज्ञात हो कि कल NSUI ने जहाँ स्लोगन वाली तख्तियों के माध्यम से मौन विरोध प्रदर्शन किया था, वहीं आज उन्होंने विश्वविद्यालय प्रबंधन के विरुध्द जमकर नारेबाजी की और घुटनों के बल खड़े होकर अद्वितीय विरोध प्रदर्शन किया।

काबिल-ए-गौर है कि अपनी मांगों को लेकर छात्र इतने दिनों से आंदोलनरत् हैं पर विश्वविद्यालय प्रबंधन ने इनकी मांगो के संदर्भ में इनसे किसी तरह की सुलह करने का प्रयास नहीं किया तथा न ही किसी तरह का आश्वासन ही दिया। यही वजह है कि छात्रों में नाराज़गी बढ़ती जा रही है।

विश्वविद्यालय प्रशासन के अड़ियल रवैये की वजह से आंदोलन कर रहे छात्रों की पढ़ाई का भी नुकसान हो रहा है, इसलिए विश्वविद्यालय प्रबंधन को तत्काल इस आंदोलन को खत्म करवाने के लिये उचित कदम उठाने चाहिये, जिससे छात्रों के भविष्य से किसी खिलवाड़ न हो।

इस दौरान प्रदर्शन का नेतृत्व विशाल खम्बारी (जिला महासचिव) और मनोहर सेठिया (जिला महासचिव) ने किया। जिसमें प्रमुख रुप से रोहित पाणिग्राही, सोमेन्द्र माली, NSUI विधानसभा अध्यक्ष अभिषेक गुप्ता, छात्र-नेता अभिषेक अवस्थी, फैज़ल नेवी, आई.सेल.संयोजक असीम सुता, सोशल मीड़िया संयोजक ज्योती राव, सोहेल रिजवी, NSUI नेता फैसल नेवी, माज़ लिला, यशवंत पाणिग्रही, लितेश पटेल, पंकज केंवट, किशोर सेठिया, लक्मीकांत पाणिग्रही, अभिषेक केंवट, दुर्गेश नेताम, विजय झाड़ी, नूरेंद्र साहू, जयप्रकाश पैंकरा, ओमप्रकाश श्रीवास्तव, उत्तम नाग, राजू भारती, सौरभ जैसवाल, आशीष लहरे, तापस विशवास, तुषार पांडे, घनश्याम पांडे, अमृत मौर्य, प्रदीप नाग, अरमान सिंह, हेमंत कश्यप, सौरभ चक्रवर्ती, दिलेश्वर दिपक, शिवेंद्र पाणिग्राही, राहुल पाणिग्राही, सौरभ जोशी, नितेश पटेल, बालाजी राव, शुभम राव, नितेश सरकार, पंकज पाणिग्राही, राजेश कश्यप, शुभेन्द्र मिश्रा, सागर नेताम, अनुज आचार्य, विभा राव, मिताली साव, अंजली मिश्रा, अभिलाषा पोडियामी, अंकिता दत्ता सहित अत्यधिक संख्या में छात्र-छात्राएं मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *