स्कूली बच्चों की कार्यशाला का हुआ समापन.., नाबालिगों के विरूद्ध लैंगिक अपराध व संरक्षण, सायबर क्राईम, एटीएम फ्रॉड एवं छात्रवृत्ति योजनाओं से कराया गया अवगत

बीजापुर। जिला मुख्यालय बीजापुर में अध्यनरत स्कूली बच्चों की कार्यशाला आयोजित की गई, जिसमें लगभग 200 बच्चों उनके शिक्षकगण एवं कार्यक्रम में अपनी प्रस्तुती के लिये विभिन्न विभाग के अधिकारी उपस्थित हुये। कार्यक्रम में सर्वप्रथम पुलिस विभाग की ओर से उप निरीक्षक राजीव तिवारी प्रभारी सायबर के द्वारा सायबर अपराध, एटीएम फ्राड, फर्जी लाटरी योजना, ईनामी योजनाओं आदि के माध्यम से धोखाधड़ी के सबंध में बच्चों को अवगत कराया गया, कैसे फ्रॉड आपसे संपर्क करता है एवं आपके द्वारा ऐसे फ्रॉड के कॉल से कैसे बचना चाहिए, फ्रॉड के शिकार होने पर की जाने वाली त्वरीत कार्यवाही के बारे में अवगत कराया गया। बच्चों के द्वारा पूछे गए सवालों का जवाब भी दिए गए।

एक्सिस बैंक बीजापुर के मैनेजर मानस कुमार के द्वारा एटीएम फ्रॉड के सबंध में सतर्क किया गया, ऐसे फ्रॉड होने पर कहां शिकायत की जावें, एवं एटीएम ब्लॉक करने के लिये किस नम्बर पर कॉल किया जाए ये बच्चों को बताया गया।

उप निरीक्षक सिद्धार्थ मिश्रा एवं सउनि मंडावी के द्वारा यातायात नियमों के पालन एवं दुर्घटना से बचाव के उपाय, एवं जिला में आरटीओ आफिस से ड्रायविंग लायसेंस बनाये जाने के सबंध में अवगत कराया गया। 18 वर्ष से कम उम्र के बालक एवं बालिकाओं को बिना गेयर वाला लायसेंस बनाये जाने एवं सुरक्षा की दृष्टि से बिना गेयर की मोटर सायकल का इस्तेमाल करने की सलाह दी गई।

जिला बाल संरक्षण अधिकारी राहुल कौशिक के द्वारा गुड-टच एवं बेड-टच को वीडियो के माध्यम से बच्चों को प्रस्तुती दी गई एवं इस प्रकार की घटना होने पर इसे शर्म या भय के कारण छुपाये न बल्कि अपने सबसे विश्वासपात्र को इससे अवगत करावें। नाबालिगों की सुरक्षा हेतु विशेष कानून बनाये गये हैं, जिसमें प्रकरण का त्वरित निराकरण होता है एवं दोषियों को सजा भी मिलती है।

वन विभाग की ओर से एसडीओ फारेस्ट अशोक पटेल के द्वारा जिले में वन क्षेत्र एवं राजस्व क्षेत्र व वनों से होने वाले लाभ के सबंध में बताया गया। वन सम्पदा एवं खनिज को नुकसान एवं अवैध परिवहन के सबंध में पुलिस या वन विभाग को अवगत कराने एवं वन विभाग के द्वारा छात्र-छात्राओं के लिये मिलने वाली विभिन्न छात्रवृत्ति योजनाओं से बच्चों को अवगत कराया गया, इसका लाभ लेकर अपना भविष्य को सुधारने के अवसरों को बताया गया।

सखी वन स्टाप सेंटर की ओर से तुलिका सतपथी के द्वारा बच्चों को पाम्पलेट वितरण कर एवं फ्लैक्स के माध्यम से घरेलु हिंसा, पारिवारिक विवाद, मानव तस्करी, अपहरण, दैहिक शोषण, सोशल मीडिया के माध्यम से प्रचार, दहेज प्रताड़ना, टोनही प्रताड़ना के प्रकरणों में त्वरित कार्यवाही के सबंध में अवगत कराया गया। यदि कोई भी इनमें से प्रताड़ित इनके पास आता है तो उनके लिये आवासीय भवन उपलब्ध है जहां रहने खाने की सुविधा है।

कलेक्टर जिला बीजापुर के.डी.कुंजाम के द्वारा संक्षिप्त में सायबर अपराध, एटीएम फ्राड, यातायात नियमों के पालन एवं बच्चों के लिये शिक्षा हेतु अन्य योजनाओं से अवगत कराया गया।

पुलिस अधीक्षक बीजापुर मोहित गर्ग के द्वारा बच्चों को सायबर अपराध, एटीएम फ्राड, यातायात नियमों का पालन, नाबालिगों के विरूद्ध अपराध, के सबंध में संक्षिप्त में बच्चों से चर्चा की गई। भविष्य को सुधारने हेतु वन विभाग द्वारा जो छात्रवृत्ति योजना चालू किया गया है उसका लाभ लेने एवं अपने आसपास घटित होने वाले पारिवारिक हिंसा, मानव तस्करी, अपहरण आदि के सबंध में पुलिस को अवगत कराने की अपील की गई। वर्तमान में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिये बच्चों से अपील की गई की अपने परिवार एवं आसपास रहने वाले आम जनता को मतदान हेतु जागरूक करें, उन्हे मताधिकार के बारें में अवगत करावें, आपका 01 वोट क्षेत्र, राज्य एवं देश के लिये महत्वपूर्ण है।

अंत में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री दिव्यांग पटेल के द्वारा सभा में आये सभी छात्र- छात्राओं, शिक्षक एवं सबंधित विभाग के अधिकारियों का आभार व्यक्त कर, कार्यशाला का समापन किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *