मजदूरों ने मनरेगा भुगतान दिलाने सीईओ से लगाई गुहार, मजदूरी भुगतान मामले में पंचायत सचिव जता रहा अनभिज्ञता

बीजापुर। मनरेगा मजदूरी की लंबित भुगतान को लेकर मजदूरों ने जिला सीईओ राहुल वेंकट से गुहार लगाई है।

आज जिला पंचायत सीईओ राहुल वेंकट के समक्ष शिकायत लेकर पहुंचे आश्रित गांव कोमेट पल्ली के ग्रामीणों ने सीईओ को पूरे विषय से अवगत कराया। धरमैया यालम,कोमरेश तेरे, टिंगे गवरैया आदि ग्रामीणों का कहना था कि छह माह पहले ग्राम पंचायत द्वारा रोजगार गारंटी के तहत् तीन डबरा का निर्माण कार्य कराया गया था। जिसमें सौ से अधिक मजदूर थे। काम पूरा होने पर भी अधिकतर मजदूरों का भुगतान बकाया है। उन्हें 18 दिन की मजदूरी नहीं मिली है।

इस पूरे मामले में ग्राम पंचायत सचिव सचिव शंकर भगत से पूछने पर लगातार अनभिज्ञता जाहिर की जाती है, वही रोजगार सहायक रमेश का कहना है कि मजदूरों के खातें में रकम जमा कर दी गई है।

आधार कार्ड-पासबुक में अलग-अलग नाम- शिकायतकर्ता ग्रामीणों के पासबुक और आधार कार्ड में नाम अलग-अलग है। सभी के अकाउंट क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक की मद्देड़ शाखा में खुले हैं, लेकिन कई ग्रामीणों के आधार कार्ड में दर्षित नाम बैंक पासबुक के उलट है। ऐसे में अधिकारी भी इन कारणों को गंभीरता से ले रहे हैं। आधार और पासबुक में अलग-अलग नामों को लेकर आॅनलाइन भुगतान में अड़चन आई हो, ऐसी आशंका जताई जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *