प्रदेश के बड़े ‘स्पंज आयरन’ कारोबारियों पर आयकर की दबिश, रायपुर-बिलासपुर के ठिकानों पर चल रही जांच

रायपुर। छत्तीसगढ़ में आयकर विभाग ने प्रदेश के स्पंज आयरन कारोबारियों के ठिकानों पर दबिश दी है। जानकारी के मुताबिक मंगलवार सुबह जीके टीएमटी, रियल इस्पात और सुनील इस्पात के राजधानी रायपुर व बिलासपुर के कई ठिकानों पर जांच पड़ताल चल रही है। राजेश अग्रवाल के सिविल लाइन, अशोका रत्न स्थित ठिकानों सुनील इस्पात के मालिक अनिल नचरानी के रायपुर, बिलासपुर के दफ्तरों और फैक्ट्रियों में दस्तावेज खंगाले जा रहे हैं।

आयकर अफसरों ने मंगलवार सुबह प्रदेश के उद्योगपतियों को निशाने पर लिया है। सुनील इस्पात के मालिक नचरानी के रायपुर, बिलासपुर समेत कई ऑफिस और फैक्ट्रियों में भी जांच पड़ताल की जा रही है। बताया जाता है कि सौ से ज्यादा आयकर अधिकारियों की टीम ने दबिश दी है। एक साथ इस कार्रवाई को अंजाम दिया जा रहा है। फैक्‍ट्री और ऑफिस को अंदर से बंद कर लिया गया है और जरूरी दस्‍तावेजों को खंगाले जा रहे है।

इस कार्यवाही में मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ के आयकर अफसर लगे हुए हैं। माना जा रहा है कि नोटबंदी और जीएसटी के इन उद्योगों पर आयकर की नजर थी। यहां बड़े पैमाने पर टैक्स चोरी की सूचना के आधार पर आयकर विभाग ने कार्रवाई की है। हालांकि जांच पड़ताल के बाद ही स्थिति स्पष्ट हो पाएगी। इस कार्रवाई के पूरा होने में लगभग दो-तीन दिन का वक्त लग सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *