बस्तर के करीतगांव में ‘अटल विकास यात्रा’ दौरान मुख्यमंत्री डाॅ. रमन सिंह के स्वागत में उमड़ा जनसैलाब

जगदलपुर। अटल विकास यात्रा के दौरान आज करीतगांव में मुख्यमंत्री डाॅ. रमन सिंह के स्वागत में बड़ी संख्या में जनसमूह उमड़ा। यहां मुख्यमंत्री का स्वागत विभिन्न लोकनृत्यों के साथ किया गया। मुख्यमंत्री ने यहां किए गए आत्मीय स्वागत के लिए जनता के प्रति आभार व्यक्त किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि मां दंतेश्वरी और बम्लेश्वरी का आशीर्वाद लेकर प्रारंभ की गई इस यात्रा के दौरान अब जनता-जनार्दन का आशीर्वाद प्राप्त करने पहुंचे हैं। उन्होंने कहा कि बीते पन्द्रह वर्षों में बस्तर विकास की राह पर तेजी से आगे बढ़ रहा है और अब यहां नगरनार का इस्पात संयंत्र व मेडिकल काॅलेज इसकी पहचान बन रहे हैं। उन्होंने कहा कि एक रुपए किलो चावल के साथ ही निशुल्क नमक और पांच रुपए किलो चना उपलब्ध कराया जाता है, जिससे कोई भूखा न रहे। मुख्यमंत्री ने कहा कि लोगों के स्वास्थ्य की चिंता करते हुए 50 हजार रुपए तक के इलाज के लिए स्मार्टकार्ड की सुविधा दी गई और अब प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने बड़ी बीमारियों के इलाज के लिए पांच लाख रुपए तक के इलाज के लिए आयुष्मान भारत योजना प्रारंभ की है। उन्होंने कहा कि अब किसी बड़ी बीमारी के लिए किसी गरीब को घर और जमीन बेचने की जरुरत नहीं होगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने धान का समर्थन मूल्य सीधे 200 रुपए बढ़ाकर ऐतिहासिक कार्य किया है और छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा भी 300 रुपए का बोनस दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि सामान्य धान की कीमत अब 1750 और पतले धान की कीमत 1770 रुपए होगी तथा बोनस के साथ यह राशि 2150 और 2170 रुपए होगी। उन्होंने कहा कि इस वर्ष 2400 रुपए के आसपास धान बोनस राशि का वितरण किया जाएगा। इसके साथ ही तेंदूपत्ता बोनस के रुप में 750 करोड़ रुपए दिए जाएंगे। उन्होंने कहा कि तेंदूपत्ता संग्रहण के लिए अंधियारी रात से ही जंगल की ओर जाने वाले आदिवासी भाई-बहनों के पैर पत्थर या कांटों से जख्मी न हों, जिससे उनके पैरों में कोई गंभीर समस्या आए। इसके लिए शासन ने चरणपादूका योजना प्रारंभ की। मुख्यमंत्री ने कहा कि बेटियां स्कूल न छोड़ें, इसलिए उन्हें सायकल दी गई। अब सायकल पाकर बेटियों का आत्मविश्वास और सम्मान दोनों ही बढ़ गया है। उन्होंने कहा कि यहां गांव-गांव में खुले स्कूल, आश्रम, छात्रावास, प्रयास और एकलव्य विद्यालय, माॅडल स्कूल बस्तर के तरक्की की पहचान हैं।

उन्होंने कहा कि यहां अब 400 केवी का विद्युत उपकेन्द्र स्थापित हो चुका है और सौभाग्य योजना के तहत हर घर में बिजली पहुंच रही है। इसके साथ ही गांव-गांव अब पक्की सड़कों से जुड़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि माताओं और बहनों को सशक्त बनाने के लिए स्मार्टफोन भी दिए जा रहे हैं और अब इस स्मार्टफोन से वे सीधे मुख्यमंत्री से भी संपर्क कर सकती हैं और अपनी समस्याओं को साझा कर सकती हैं। उन्होंने कहा कि माताओं और बहनों को प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के तहत गैस देकर उन्हें धुंए और बीमारियों से मुक्त करने का कार्य भी सरकार ने किया है। सांसद दिनेश कश्यप ने भी इस अवसर पर संबोधित किया। इस अवसर आदिम जाति कल्याण मंत्री केदार कश्यप, जिला पंचायत अध्यक्ष जबिता मंडावी, पूर्व विधायक डाॅ सुभाऊ कश्यप सहित बड़ी संख्या में जनप्रतिनिधिगण एवं ग्रामीण उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *