मांझियों का बढ़ा मानदेय, वीर-सावरकर भवन में आयोजित मांझी-चालकी सम्मेलन में मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने की घोषणा

जगदलपुर। मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने बस्तर के मांझी-मेम्बरीन का मानदेय बढ़ाने की घोषणा की। जगदलपुर में आज रात वीर सावरकर भवन में आयोजित मांझी – चालकी सम्मेलन में मुख्यमंत्री ने मांझी-चालकियों का मानदेय 2000 रुपये से बढ़ाकर 2500 रुपए, मेम्बरीन का 1000 से 1500 रुपये तथा मुंडा बाजा वादकों का मानदेय 500 से बढ़ाकर 1000 करने की घोषणा की।

मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने मांझियों की मांग पर सभी मांझियों और मेम्बरीन को स्काई योजना के तहत स्मार्ट फोन देने की भी घोषणा की। इस अवसर पर मुख्यमंत्री डाॅ. रमन सिंह को मांझी-चालकियों ने अपनी परम्परा एवं संस्कृति का प्रतीक पगड़ी पहनाकर सम्मानित किया और तूमा शिल्प भेंट की।
इस अवसर पर मुख्यमंत्री डाॅ. रमन सिंह ने कहा कि अटल विकास यात्रा का दूसरा चरण शुरु हुआ है। बस्तर क्षेत्र में दो दिनों तक यात्रा करके लोगों से संपर्क का अवसर मिला। उन्होंने सभी मांझी-चालकी का स्वागत किया और कहा कि बस्तर के सामाजिक, सांस्कृतिक और परम्परा के वाहक हैं। उन्होंने मांझी चालिकयों से कहा कि वे अपने क्षेत्र के मुखिया हैं और उन्होंने कहा कि बेटे-बेटियों को स्कूल भेजने, स्वच्छता अभियान के लिए लोगों को जागरुक करने में आप सभी की महत्वपूर्ण भूमिका है।

इस अवसर पर आदिम जाति कल्याण मंत्री केदार कश्यप, सांसद दिनेश कश्यप, लोहंडीगुड़ा के मंगड़ू मांझी एवं फरसपाल के अर्जुन मांझी ने भी संबोधित किया। जगदलपुर विधायक संतोष बाफना, छत्तीसगढ़ युवा आयोग के अध्यक्ष कमलचंद भंजदेव, वन विकास निगम के अध्यक्ष श्रीनिवास राव मद्दी, बस्तर जिला पंचायत अध्यक्ष जबिता मंडावी लच्छूराम कश्यप, सुभाउ कश्यप, बैदूराम कश्यप, कलेक्टर डाॅ. अय्याज तम्बोली सहित अन्य जनप्रतिधिगण उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *