Pro Seo Tips

 

दुर्गापूजा के लिए अड़ंगे लगाने का खेल कैसे हुआ और हिन्दू छात्रों ने इस पर कैसे विजय प्राप्त की

JNU में दुर्गा पूजा के आरम्भ का रोमांचक इतिहास… अभी कुछ दिन पहले मेरा रांची जाना हुआ था. रांची में 4 दिन तक रुका. देश भर से आये हुए विभिन्न मूर्धन्य विद्वानों/चिन्तकों से मिलना हुआ. कुछ सही में विद्वान थे/है (उनको सुनने से अच्छा लगा लगा कि हाँ, इनको देश-काल-स्थितिRead More

कुछ कल्प-कथाओं के आधार पर अत्याचार झेलने का एकतरफा नैरेटिव रचने वाले इतिहास के प्रति ऐसे उदासीन कैसे हो जाते हैं?

इतिहास में लिपिबद्ध अत्याचार जिस से नव भारत का वमियो द्वारा लिखित इतिहास मुहँ चुराता रहा है और जिसे भारतीय जनमानस की स्मृतियों से मिटाने का प्रयास भारत का सिक्युलर राजनैतिक नेतृत्व करता रहा है, उसको Manoj Shrivastava जी की धधकती लेखनी हम सबसे फिर से परिचय करा रही है।Read More

आपके सपनो को वास्तविकता में परिवर्तित करने के लिये अपनी ढाल बनाता है।

आज एक समाचार और उससे सबंधित वीडियो की तरफ ध्यान गया तो यूं लगा जैसे धूप में बारिश हो गयी है। समाचार था कि जापान की 28 वर्षीय राजकुमारी अयाको ने, टोक्यो के मैंजी मंदिर में, विधिविधान से एक 32 वर्षीय सामान्य जन मोरियो से विवाह कर लिया है। राजकुमारीRead More

मिचेल और उसके वकील के बीच कम से कम तीन फीट की दूरी रहेगी

कल जब से यह समाचार आये है कि कोर्ट ने एनफोर्समेंट डायरेक्टरेट के निवेदन को स्वीकार करते हुए अगुस्ता वीआईपी हेलीकॉप्टर घोटाले में बिचौलिया की भूमिका निभाने वाले क्रिस्चियन मिचेल की हिरासत 7 दिनों के लिए बढ़ा दी गयी है तभी से कांग्रेस की तरफ से विछिप्त प्रतिक्रियाएं व मीडियाRead More

कश्मीरी अलगावादियों से बात चीत करने की नीति को नुकसान पहुंचाएगा।

भारत की रक्षा करने वाले जवान की आतंकवादी द्वारा मौत हो और उसका पार्थिव शरीर उसके गांव अंतिम संस्कार के लिए आरहा हो, तब क्या कोई राजनैतिक दल, नीचता कर सकता है? मैं सोचता था कि यही एक क्षण है जब लोग राजनीति से ऊपर उठ कर, देश की रक्षाRead More

न सिर्फ डील पक्की कर दी बल्कि होटल बनाने के लिए गोमती का किनारा पटवा दिया।

अब समस्या ताज होटल को हुई। आज जहां आंबेडकर पार्क है वहां आवासीय कालोनी प्रस्तावित थी। अगर वहां आवासीय कालोनी बन जाती तो ताज का सौंदर्य और खुलापन बिगड़ जाता। तो मायावती के सचिव पी एल पुनिया को साधा गया। क्यों कि मायावती बहुत मंहगी पड़ रही थीं। पुनिया सस्तेRead More

कभी कहीं पढ़ा था कि किसी सक्षम देश के लिए सेना से भी ज़्यादा ज़रूरी है न्यायपालिका। तो क्या ऐसी ही न्यायपालिका

कभी कहीं पढ़ा था कि किसी सक्षम देश के लिए सेना से भी ज़्यादा ज़रूरी है न्यायपालिका। तो क्या ऐसी ही न्यायपालिका ? सोचिए कि यह वही लखनऊ बेंच है जिस में एक बार तब के सीनियर जस्टिस यू सी श्रीवास्तव ने उन्नाव के तब के सी जी एम कोRead More

राजीव गांधी के लिए यह बोफोर्स काल बन गया और उन का राजनीतिक अवसान हो गया।

इस दौरे मुंसिफी मे ज़रुरी तो नही वसीम जिस शख्स की खता हो उसी को सज़ा मिले। ऐसा नहीं है कि सिर्फ हाईकोर्ट और निचली अदालतों में ही यह पैसा और लड़की वाली बीमारी है। सुप्रीम कोर्ट में भी जस्टिस लोगों के अजब-गज़ब किस्से हैं। फ़िलहाल एक क़िस्सा अभी सुनाताRead More